जो मिथ्या है वह सत्य लगता है और जो सत्य है वह मिथ्या लगता है। - समर्थ गुरु रामदास